मंगलुरु: कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए कर्नाटक ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। मंगलुरु में पार्टी का घोषणा पत्र जारी करते हुए कहा कि प्रदेश की जनता के अनुरूप तैयार किया गया है। उन्होंने कहा, ‘पांच साल पहले कर्नाटक में कांग्रेस पार्टी ने जो वादे किए थे उन्हें निभाए हैं। हमने प्रदेश के जनता के मन की बात सुनी है।’ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि ये ऐसा घोषणा पत्र नहीं है जिसे बंद कमरे में 3-4 लोगों ने बनाया हो। इसे हर जिले और हर समुदाय के पास जाकर तैयार किया गया है। उन्होंने कहा कि मैं यहाँ कर्नाटक के लोगों को ये बताने नहीं आया हूँ कि उनके लिए क्या अच्छा है, मैं यहाँ ये सुनने आया हूँ कि वो अपनी बेहतरी के लिए क्या सोचते हैं।

घोषणा पत्र जारी

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए जारी इस मैनिफेस्टो में कांग्रेस ने अलग-अलग सेक्टर के लिए अपना विकास का प्लान बताया है। इसमें सबसे पहले नंबर पर कृषि को शामिल किया गया है और आखिरी नंबर पर महिला सशक्तिकरण और बाल विकास को शामिल किया गया है। इसके अलावा शिक्षा, स्वास्थ्य, उद्योग, सामाजिक न्याय और पर्यटन जैसे विषय हैं।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने पार्टी को खोई प्रतिष्ठा वापस दिलाने की सबसे बड़ी चुनौती

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वीरप्पा मोइली ने कहा, ‘यह पहला ऐसा मौका है जब घोषणा पत्र में सभी जिलों का ध्यान रखा गया है। उन्होंने बताया कि फंड और विभिन्न योजनाओं के लाभ की सूचना से संबंधित एक बुकलेट भी जारी की जाएगी।’ मोइली ने बताया कि बेंगलुरु, बेलगांव, गुलबर्गा और मैसूर के लिए कांग्रेस पार्टी का अलग-अलग एजेंडा है। इसलिए राज्य स्तरीय घोषणा पत्र जारी होने के बाद शनिवार को क्षेत्रवार घोषणा-पत्र जारी करेगी।

कर्नाटक विधानसभा की 224 सीटों के लिए 12 मई को मतदान होंगे और 15 मई को नतीजों की घोषणा की जाएगी। 1 मई से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीजेपी की चुनाव प्रचार की अगुवाई करेंगे। उनकी कई जनसभाएं प्रस्तावित हैं। इससे पहले उन्होंने नमो ऐप के जरिए सभी 224 बीजेपी प्रत्याशियों से बात की और विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ने की सलाह दी।

ये भी देखिए…

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...