अहमदाबाद: सोशल मीडिया लगातार लोगों को करीब लाने का काम कर रहा है. ऐसे में कई कपल सोशल मीडिया के जरिए ही मिल रहे हैं और शादी के बंधन में बंध रहे हैं. वहीं युवाओं के नये मित्र और जीवनसाथी ढूंढने के लिये सोशल मीडिया का सहारा लेने की बढ़ती प्रवृत्ति पर गुजरात हाई कोर्ट ने टिप्पणी की है.

गुजरात हाईकोर्ट

गुजरात हाईकोर्ट के न्यायाधीश जेबी पर्दीवाला ने शादी से जुड़े एक मामले में कहा है कि फेसबुक के जरिए होने वाली शादियों का टूटना तय है. न्यायमूर्ति जेबी पर्दीवाला ने यह टिप्पणी अपने 24 जनवरी के आदेश में की थी. इसमें उन्होंने घरेलू हिंसा के एक मामले का निपटारा किया है. दरअसल राजकोट की फैंसी शाह ने अपने पति जयदीप शाह और अपने सास-ससुर पर दहेज के लिये उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था. फरवरी 2015 में दोनों की उनके माता-पिता की रजामंदी से शादी हुई. हालांकि, उनके दांपत्य जीवन में दो महीने के भीतर ही परेशानी आने लगी.


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


गुजरात में राज्यसभा चुनाव का ड्रामा अब कोर्ट में खींच ले गई भाजपा

न्यायाधीश ने कहा, ‘‘उनकी शादी हुई और दो महीने के भीतर उनके वैवाहिक जीवन में समस्या आने लगी. मैं इस तथ्य पर गौर करूंगा कि पक्षों ने मामले का समाधान करने का प्रयास किया हालांकि समझौता नहीं हो सका.’’ न्यायाधीश ने कहा, ‘‘यह फेसबुक पर निर्धारित आधुनिक शादियों में से एक है, जिसका विफल होना तय है.’’

इसके साथ ही जस्टिस जेबी पर्दीवाला ने दंपति को अपना विवाह संबंध समाप्त करने की सलाह दी है क्योंकि फेसबुक के जरिये होने वाली शादी का ‘विफल होना तय’ है. आपको बता दें कि नवसारी का रहने वाला जयदीप फेसबुक के जरिये 2011 में फैंसी के संपर्क में आया. वह उस दौरान इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था.

ये भी देखिए…

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...