डेरा सच्चा सौदा के मुखिया गुरमीत सिंह राम रहीम की खासमखास हनीप्रीत इंसा को अब बाबा का सहारा तो रहा नहीं। रेप का दोषी बाबा अब खुद लंबे समय के लिए जेल में है। हालांकि, बाबा ने सीबीआई कोर्ट के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में अर्जी लगाई है।

दिल्ली हाईकोर्ट में जमानत अर्जी

इसी बीच सूचना है कि हनीप्रीत भी हाईकोर्ट की शरण में पहुंच गई है। उसने दिल्ली हाईकोर्ट में अंतरिम जमानत के लिए अर्जी दी है। इस पर मंगलवार को सुनवाई हो सकती है। जमानत अर्जी हनीप्रीत तनेजा के नाम से दी गई है।

बाबा रोज़ रात 10 बजे भेजता था नया मैसेज और हनीप्रीत करती थी थम्स अप


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


हिंसा भड़काने की आरोपी हनीप्रीत

हनीप्रीत बाबा को दोषी करार दिए जाने के बाद हिंसा भड़काने के मामले में आरोपी है। पुलिस देश भर में उसकी तलाश कर रही है। यही नहीं, हरियाणा पुलिस ने यह भी कहा है कि अगर वह हाजिर नहीं होती तो संपत्ति जब्त कर भगोड़ा घोषित कर दिया जाएगा।

बाबा ने भी सजा को दी चुनौती

इस बीच जेल में बंद गुरमीत राम रहीम ने विशेष सीबीआई कोर्ट के सजा के फैसले को पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में सोमवार को चुनौती दी है। कोर्ट ने 28 अगस्त को दो साध्वियों के रेप के मामले में दोषी ठहराते हुए राम रहीम को 20 साल कैद दी थी।

राम रहीम और हनीप्रीत का था घिनौना प्लान, अगला डेरा प्रमुख बनता खुदा का बेबी

गुरमीत के वकील ने की पुष्टि

गुरमीत के वकील विशाल गर्ग नरवाना ने बताया कि पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में अपील याचिका दाखिल की है। इसमें विशेष सीबीआई कोर्ट के फैसले को चुनौती दी गई है। उन्होंने कहा कि इसमें सीबीआई कोर्ट के फैसले के खिलाफ कई आधार गिनाए गए हैं।

बयान के हिस्से हटाने का आरोप

गर्ग ने कहा कि सीबीआई का दावा है कि दोनों महिला साध्वी का 1999 में यौन उत्पीड़न किया गया और उनके बयान वर्ष 2005 में दर्ज किए गए। उन्होंने आरोप लगाया कि सीबीआई ने पीड़िताओं के बयान के कुछ हिस्से को हटा दिया।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...