दक्षिण अफ्रीका की डेमी-ले नेल-पीटर्स ने इस साल की मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता में बाजी मार ली है। उनके सिर पर मिस यूनिवर्स का ताज सज गया है। सबसे बड़ी बात यह रही कि लास वेगास में हुए कार्यक्रम के प्रस्तोता कॉमेडियन स्टीव हार्वी थे।

अंतिम 16 में भी नहीं पहुंचीं श्रद्धा

यही नहीं, स्टीव हार्वी ने इस बार कोई गलती नहीं की और विजेता के रूप में डेमी-ले नेल-पीटर्स का नाम ही घोषित किया। वहीं, भारत की श्रद्धा शशिधर इस खिताब को अपने नाम करने से चूक गईं। वह अंतिम 16 में भी नहीं पहुंचीं।

दिल की डॉक्टर बनते-बनते मिस वर्ल्ड बनीं मानुषी ने इस जवाब से जीता दिल


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


सवाल-जवाब राउंड में जीता दिल

प्रतियोगिता के सवाल-जवाब राउंड में डेमी-ले नेल-पीटर्स ने मिस यूनिवर्स होने का राज खोला। उन्होंने कहा कि उनका मानना है कि मिस यूनिवर्स वह है, जो कई प्रकार के डर से लड़कर यहां तक पहुंचती है।

पूर्व विजेता ने पहनाया ताज

मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता के आधिकारिक ट्विटर पेज के अनुसार 22 साल की नेल-पीटर्स को पिछले साल की विजेता फ्रांस की आइरिस मिट्टेनेयर ने ताज पहनाया। कोलंबिया की लौरा गोंजालेज और जमैका की डेविना बेनेट दूसरे और तीसरे स्थान पर रहीं।

यह पूछा गया था नेल-पीटर्स से

प्रतियोगिता के सवाल-जवाब खंड में नेल-पीटर्स से पूछा गया था कि आप अपने किस गुण पर सबसे ज्यादा गौरव महसूस करती हैं और आप मिस यूनिवर्स रहते हुए अपने उस गुण का कैसे इस्तेमाल करेंगी?

मिस यूनिवर्स में हो आत्मविश्वास

सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मिस यूनिवर्स के तौर पर आप जो हैं, उसे लेकर आप में आत्मविश्वास होना चाहिए। मिस यूनिवर्स वह महिला है जो कई प्रकार के भय से उबरती है और उस तरह से दूसरी महिलाओं को भी उनके भय से पार पाने में मदद करती है।

श्रद्धा ने तोड़ीं भारत की उम्मीदें

बता दें कि अंतिम पांच में जगह बनाने वाली दूसरी प्रतियोगियों में मिस वेनेजुएला व मिस थाइलैंड शामिल थीं। इस खिताब के लिए कुल 92 महिलाएं होड़ में थीं। मानुषी छिल्लर के मिस वर्ल्ड 2017 की विजेता बनने के बाद भारत को श्रद्धा (21) से भी उम्मीदें थीं, पर वह टूट गईं।

मिस इंडिया मानुषी बनीं मिस वर्ल्ड, 17 साल बाद भारत को मिला खिताब

मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता में हुई थी चूक

इस प्रतियोगिता के दौरान एक बार बड़ी चूक हो चुकी है। मिस यूनिवर्स 2015 के नाम की घोषणा के दौरान होस्ट स्टीव हार्वे ने गलती से मिस कोलंबिया अरियाड्ना गुटिरेज एरिवालो को विजेता घोषित कर दिया था।

गलत नाम की कर दी थी घोषणा

वास्तव में मिस कोलंबिया रनर अप थीं। यही नहीं, उन्हें विजेता का ताज भी पहना दिया गया। इसके बाद भूल का अहसास होने पर मिस कोलंबिया को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा, क्योंकि ताज उनके सिर से उतारकर वास्तविक विजेता मिस फिलीपींस को पहनाया गया।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...