मां बनने की तैयारी कर रहीं अभिनेत्री सोहा अली खान मुसीबत में फंसती दिख रही हैं। उन्होंने 18 साल की ही उम्र में बंदूक का लाइसेंस बनवा लिया था। अब उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की जाएगी। यह आदेश हरियाणा के लोकायुक्त जस्टिस एनके अग्रवाल ने दिया है। उन पर फर्जी लाइसेंस बनवाने के मामले में एफआईआर दर्ज होगी। बता दें कि हथियार का लाइसेंस बनवाने के लिए कम से कम 21 साल की उम्र होनी जरूरी है।

सैफ की बहन सोहा बनने वाली हैं मां, पति कुणाल खेमू ने जताई खुशी

सोहा की बंदूक से मारा गया था काला हिरण

मामला झज्जर के बहुचर्चित काले हिरण के शिकार से जुड़ा है। इस मामले में पर्यावरण अदालत छह आरोपियों को तीन-तीन साल कैद व 10-10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई थी। इसमें पूर्व क्रिकेटर और सोहा अली खान के पिता मंसूर अली खान पटौदी भी आरोपी थे। सुनवाई के दौरान मंसूर अली खान पटौदी व अयूब खान की मौत होने पर उनके खिलाफ मामला बंद कर दिया गया था। झज्जर में काले हिरण के शिकार में 12 बोर की जो बंदूक इस्तेमाल की गई थी, वह सोहा अली खान के नाम पर बने लाइसेंस पर जारी की गई थी। यह बंदूक पहले सुल्तान नाम के किसी व्यक्ति की थी, जिसे सोहा अली खान ने लिया था।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


सोहा

सोहा के पिता नवाब पटौदी पर था काले हिरण के शिकार का आरोप।

फिर भी हो गया था लाइसेंस का नवीनीकरण

शिकार की घटना का खुलासा होने पर बंदूक जब्त कर ली गई थी। हालांकि सोहा के लाइसेंस पर यह नहीं दर्शाया गया कि उनकी बंदूक जब्त है। यही नहीं, उस वक्त बिना किसी सत्यापन के लाइसेंस का नवीनीकरण भी कर दिया गया था। इससे जुड़ी जांच में बताया गया कि सोहा के पिता का शिकार वाला मामला झज्जर थाने का था और लाइसेंस थाना पटौदी से संबंधित था। झज्जर में दर्ज मामले की जानकारी पटौदी थाने को नहीं थी। इसी कारण लाइसेंस को जब्त नहीं किया गया। इसके बाद 2010 में सोहा के नाम बना लाइसेंस गुड़गांव के तत्कालीन कलेक्टर राकेश गुप्ता ने निरस्त कर दिया था।

सोहा की गुड न्यूज तो समझ आई, कंगना ने क्यों शुरू की लंगोटियां खरीदनी

2016 में शिकायत पर फिर से खुला मामला

लाइसेंस जब्त होने के बाद ही मामला खत्म समझा गया था। अब पीपल फाॅर एनिमल के चेयरमैन नरेश कादियान ने शिकायत कर दी। इसके बाद मामला फिर सामने आया। कदियान ने 2016 में लोकायुक्त से शिकायत की थी कि सोहा ने अवैध ढंग से हथियार रखा था। 20 अप्रैल को लोकायुक्त ने गुड़गांव के पुलिस कमिश्नर, कलेक्टर, झज्जर के एसपी और झज्जर के कलेक्टर समेत 5 लोगों को अपना पक्ष रखने को कहा था। लोकायुक्त के आदेश में तब एफआईआर दर्ज करने की बात नहीं थी। 27 अप्रैल को लोकायुक्त के आदेश की कॉपी कादियान के पास पहुंची तो पता चला कि सोहा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने का आदेश दिया जा चुका है। यही नहीं, लोकायुक्त ने सोहा और पूरे मामले में शामिल अफसरों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए हैं कि लाइसेंस कम उम्र में कैसे बना दिया गया।

जिप्सी की तलाशी में मिला था काले हिरण का शव

थाने में दर्ज मामले के अनुसार 3 जून 2005 को झज्जर में पुलिस ने एक जिप्सी की तलाशी ली थी। उसमें दो खरगोश व एक काले हिरण के शव मिले थे। पुलिस ने जिप्सी से दो बंदूक व एक चाकू भी बरामद किया था। पुलिस ने पूर्व क्रिकेटर मंसूर अली खान पटौदी सहित सात लोगों मोहम्मद अयूब, दयाल सिंह, सैयद अहमद, बलवान सिंह, मदन सिंह, ज्ञासुद्दीन, शशि सिंह के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...