नई दिल्ली: भारतीय रेल अपने कर्मचारियों को विदेश यात्रा पर भेजेगी. इस यात्रा में सिर्फ अधिकारी वर्ग के लोग ही नहीं बल्कि गैंगमैन, ट्रैकमैन और नन ग्रेडेड अधिकारी भी शामिल होंगे. यह पहली बार है जब रेलवे अपने कर्मचारियों को विदेश यात्रा पर भेज रहा है.दक्षिण मध्य रेलवे अपने 100 कर्मचारियों को छह दिनों के लिए मलेशिया और सिंगापुर भेजा जायेगा. इस यात्रा का 25 फीसदी खर्च कर्मचारियों को उठाना होगा जबकि इस यात्रा का 75 फीसद खर्च स्टाफ बेनिफिट फंड से होगा.

भारतीय रेल

भारतीय महिलाएं नहीं रखती हैं अपनी सेहत का ध्‍यान


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


इस यात्रा का कर्मचारी ज्यादा से ज्यादा आनंद ले सकें इसका भी ध्यान रखा जा रहा है इस यात्रा सिंगापुर में यूनिवर्सल स्टूडियो, सेंटोसा और नाइट सफारी. मलेशिया में कुआलालंपुर सिटी टूर, पेट्रोनास टावर्स, बटु गुफाएं और गीटिंग हाइलैंड्स शामिल हैं. एसबीएफ फंड रेलवे की तरफ से कल्याणकारी गतिविधियों के लिए कर्मचारियों को दिये जाते हैं. एक महीने से कम वक्त में भी कर्मचारी विदेश यात्रा के निकलेंगे.

दरअसल, गैंगमैन, ट्रैकमैन भारतीय रेल के रीढ़ की हड्डी माने जाते हैं, जोकि सेना के जवानों की तरह ही काम करते हैं. भीषण ठंड हो या गर्मी, यहां तक कि ख़राब मौसम में भी ये ट्रैकमैन रेलवे ट्रैक पर अपनी ड्यूटी पर तैनात रहते हैं, ताकि लोग भारतीय रेलों में सुरक्षित सफर कर सकें. ट्रैकमैन ट्रैकों की देखभाल, उनका निरीक्षण और मरम्मत करते हैं.

ये भी देखिए…

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...