पाकिस्तान की इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर नजर रखने वाली एक संस्था ने आज स्थानीय मीडिया को वैलेंटाइन डे समारोहों को दिखाने और बढ़ावा देने से बचने के निर्देश दिये। कट्टरपंथी पाकिस्तान ने ऐसे सेलिब्रेशन को गैर-इस्लामिर करार दिया है। इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने 13 फरवरी, 2017 को एक नागरिक की याचिका पर निर्णय पारित करते हुए वैलेंटाइन डे (14 फरवरी) पर देशभर में सार्वजनिक स्थानों और सरकारी कार्यालयों में होने वाले समारोहों पर ‘‘तत्काल प्रभाव’’ से रोक लगा दी थी। पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक प्राधिकरण (पीईएमआरए) ने पिछले वर्ष फरवरी में उच्च न्यायालय द्वारा पारित निर्णय के मद्देनजर ये निर्देश जारी किये है।‪‪

वैलेंटाइन डे

वैलेंटाइन डे पर जमके उड़िए, जोश में अब होश की नहीं है ज़रुरत


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


पीईएमआरए ने एक बयान में कहा, ‘‘इस बीच,प्रतिवादियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं कि इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया पर वैलेंटाइन डे का प्रचार न किया जाये।’’सरकारी स्तर पर और किसी सार्वजनिक स्थल पर कोई समारोह आयोजित नहीं होगा। पाकिस्तान के प्रेसिडेंट ममनून हुसैन ने भी वैलेंटाइन डे से जुड़ी एक्टिविटीज से दूर रहने की अपील की है। उन्होंने इसे पश्चिमी संस्कृति का हिस्सा बताया है।

ये भी देखिए…

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...