लखनऊ: अखिलेश यादव सरकार के दौरान अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट गोमती रिवर फ्रंट में हुए घोटाले में ईडी ने केस दर्ज कर लिया है। ईडी ने ये कार्रवाई मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत की है। जानकारी के मुताबिक इसमें सिंचाई विभाग के 8 इंजीनियरों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। दरअसल, सत्ता में आते ही योगी सरकार ने इस घोटाले में जांच के आदेश दिये थे, जिसके बाद ये ही जांच शुरू कर दी गयी थी। बीते साल 19 जून को पुलिस ने भी इस मामले में केस दर्ज किया था।

गोमती रिवर फ्रंट

आपको बता दें कि इस मामले में सीबीआई भी जांच कर रही है। अगस्त 2017 में प्रमुख सचिव गृह उत्तर प्रदेश ने सीबीआई को एक पत्र लिखा था, जिसमें सिंचाई विभाग के आठ अभियंताओं को आरोपी बनाया गया था। बाद में गोमती नगर थाने में इनके खिलाफ रिपोर्ट भी दर्ज हुई थी।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


बदल रहा विकास का रंग, पहले लाल-हरा तो अब हुआ भगवा

मामले की शिकायत के मुताबिक सपा सरकार के दौरान गोमती नदी के किनारे को विकसित करने की योजना शुरू की गई थी, जिसमें 1513 करोड़ रुपए खर्च किए गए थे। इस खर्चे में गड़बड़ी की शिकायतें मिली थीं, लेकिन उस समय की सपा सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की। मार्च में जब सरकार बदली तो इस मामले में जांच शुरु की गई, बाद में जांच सीबीआई को सौंप दी गई थी।

ये भी देखिए…

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...