आईसीजे में जस्टिस दलवीर भंडारी की जीत की घोषणा होने के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत देश की कई हस्तियों ने उन्हें बधाइयां दीं। वहीं, संयुक्त राष्ट्र महासभा में अन्य देशों के प्रतिनिधियों ने भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन को बधाई दी।

भारत के लिए राजनयिक मील का पत्थर

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लिखा, न्यायमूर्ति दलवीर भंडारी को आईसीजे में फिर से चुने जाने पर बधाई। भारत के लिए राजनयिक मील का पत्थर। वहीं, प्रधानमंत्री ने लिखा, मैं जस्टिस दलवीर भंडारी को अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत में फिर से चुने जाने पर बधाई देता हूं।

मोदी ने विदेश मंत्री व उनकी टीम को सराहा

प्रधानमंत्री ने लिखा, उनका फिर से चुना जाना हमारा लिए गर्व का क्षण है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और विदेश मंत्रालय तथा दूतावासों में उनकी पूरी टीम को उनके अथक परिश्रम के लिए बधाई, जिसके कारण भारत आईसीजे में फिर से निर्वाचित हुआ है।

सैयद अकबरुद्दीन खास तव्वजो के हकदार

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने लिखा, वंदे मातरम-भारत ने अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत में चुनाव जीत लिया है। जय हिंद। जस्टिस दलवीर भंडारी को बधाई। विदेश मंत्रालय की टीम द्वारा कड़ी मेहनत की गई। संयुक्त राष्ट्र में हमारे स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन खास तव्वजो के हकदार हैं।

पाक सेना को शरीफ सरकार पर भरोसा नहीं, अब खुद जाएगी आईसीजे

भाजपा अध्यक्ष ने भी दी बधाई

वहीं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने लिखा, अंतरराष्ट्रीय अदालत में फिर से निर्वाचित होने पर न्यायमूर्ति दलवीर भंडारी को बधाई। यह जीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भारत सरकार की राजनयिक सफलता को प्रदर्शित करती है।

सुरक्षा परिषद में ग्रीनवुड से पीछे थे भंडारी

आईसीजे के पांच में से चार न्यायधीशों के चुनाव के बाद पांचवें जज के तौर पर फिर से चुने जाने के लिए दलवीर भंडारी और क्रिस्टोफर ग्रीनवुड के बीच बेहद कड़ा मुकाबला था। 11वें दौर तक जस्टिस भंडारी को संयुक्त राष्ट्र महासभा के करीब दो तिहाई सदस्यों का समर्थन मिला था, लेकिन सुरक्षा परिषद में वह ग्रीनवुड के मुकाबले 3 वोट से पीछे थे।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...