अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर कांग्रेस को फॉलो करना शुरू कर दिया है। राहुल गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस ने भी बिग बी का ट्विटर पर शानदार स्वागत किया है। कांग्रेस ने ट्वीट किया, ‘फॉलो करने के लिए धन्यवाद। हम आपको ‘102 नॉट आउट’ के लिए ऑल द बेस्ट भी कहते हैं। हमारे पास सेलिब्रेट करने का एक और कारण भी है। हमारे अब 4 मिलियन फॉलोअर्स हो गए हैं। सभी को धन्यवाद।’ कांग्रेस और अमिताभ बच्चन का रिश्ता बोफोर्स घोटाले के दौरान खत्म हुआ था।

अमिताभ बच्चन

1984 में कांग्रेस के माध्यम से राजनीति में एंट्री करने वाले अमिताभ बच्चन ने 8वें लोकसभा चुनाव के दौरान इलाहबाद से चुनाव लड़ा था। उन्होंने इसमें जीत हासिल की थी और इलाहबाद से सांसद बने थे। बिग बी और कांग्रेस के बीच पारीवारिक रिश्ते थे, लेकिन दोनों के रास्ते साल 1987 में बोफोर्स स्कैंडल के दौरान अलग हो गए थे, लेकिन अमिताभ बच्चन ने अपने दोस्त और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और उनके परिवार से दोस्ती खत्म नहीं की थी।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


लगभग एक दशक तक दोनों परिवारों के बीच अच्छे रिश्ते थे, हालांकि 1996 में बिग बी ने गांधी परिवार से पूरी तरह से दूरियां बना ली थीं।बॉलीवुड के शहंशाह से काफी सालों पहले जब राजीव गांधी से दोस्ती के बारे में सवाल किया गया था तब उन्होंने पत्रकार खालिद मोहम्मद की पुस्तक ‘टू बी ऑर नॉट टू बी अमिताभ बच्चन’ में बताया था, ‘मुझे अपनी दोस्ती के बारे में क्यों बात करना चाहिए? यहां इसकी कोई जरूरत नहीं है। दोस्ती व्यक्तिगत मामला है। इसे केवल महसूस करना चाहिए, इसके बारे में कुछ बोलने की जरूरत नहीं होनी चाहिए।

लड़कियों के बीयर पीने की बात से डर गए हैं पर्रिकर!

वहीं साल 2004 में राज्सभा सासंद ने समाजवादी पार्टी की एक रैली में कहा था कि जिन्होंने उनके पति को राजनीति में लाया था वे लोग उनके मुश्किल भरे दिनों में साथ खड़े नहीं हुए। हालांकि अमिताभ बच्चन हमेशा से ही गांधी परिवार के बारे में कुछ भी बोलने से बचते रहे हैं, लेकिन एक बार उन्होंने कहा था, नेहरू-गांधी परिवार ने हमारे देश पर शासन किया है। वो राजा हैं, हम रंक हैं।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...