मध्य प्रदेश के इंदौर निवासी सुयश दीक्षित एक जगह के राजा बन गए हैं और संयुक्त राष्ट्र से इसे मान्यता देने की मांग की है। वास्तव में अपनी घुमक्कड़ी के कारण उन्होंने सूडान और मिस्र के बीच ऐसी जगह खोज निकाली है, जहां दोनों में से किसी देश का हक नहीं है।

2072 वर्ग फुट जगह ढूंढ़ निकाली

सुयश इस जगह पहुंचे और यहां अपना झंडा लगा दिया। उन्होंने 2072 वर्ग फुट की जगह को किंगडम ऑफ दीक्षित नाम दिया है। उन्होंने इस जगह का राजा खुद को बताते हुए संयुक्त राष्ट्र संघ से मांग की है कि उन्हें इस जगह का मालिकाना हक दिया जाए।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


किंगडम ऑफ दीक्षित दिया नाम

सुयश ने फेसबुक अकाउंट पर लिखा कि किंगडम ऑफ दीक्षित की राजधानी सुयशपुर होगी। वहीं, किंगडम ऑफ दीक्षित के प्रधानमंत्री उनके पिता होंगे। और तो और उन्होंने छिपकली को राष्ट्रिय पशु बनाने की बात कही है।

विश्व बैंक: 2047 तक भारत होगा हाई मिडिल इनकम वाला देश

कॉफी पीकर जंग लड़ने का दावा

बताते चलें कि सुयश ने रेतीले इलाकों से होते हुए 319 किमी का सफर तय किया। इस बीच वह कई आतंकवाद प्रभावित इलाकों से भी गुजरे। उन्होंने लिखा है, मेरे पहले भी यहां कुछ और लोग भी दावा कर चुके हैं। उनसे जमीन लेने के लिए कॉफ़ी पीकर जंग लडूंगा।

इंदौर निवासी सुयश घूमने के शौकीन

गौरतलब है कि इंदौर के हरिकृष्ण पब्लिक स्कूल से पढ़े सुयश घूमने के शौकीन हैं। उनके मुताबिक, जिस जगह उन्होंने लावारिस जगह का दावा किया उसका नाम बीर ताविल है।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...