बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) में बवाल की रूपरेखा बनाने की किसी और को जरूरत ही नहीं थी। यूपी के सभी विश्वविद्यालय ऐसे हैं, जहां कभी भी किसी भी छात्रा के साथ ऐसी हरकत हो सकती है। इसका खुलासा खुद यूजीसी ने किया है।

यूजीसी का आंकड़ा

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में पिछले दिनों छात्रा से छेड़छाड़ और हमले के मामले पर हो रहे विरोध के बीच विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने आंकड़े जारी किए हैं। इसके अनुसार देश में उत्तर प्रदेश के विश्वविद्यालय महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित हैं।

बीएचयू विवाद को हवा दे रही आप, केजरीवाल के खास रहे शख्स ने किया खुलासा


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


चौथी शिकायत यूपी से

इन आंकड़ों के अनुसार, हर चार में से यौन शोषण की एक शिकायत यूपी के कॉलेजों से आती हैं। पंजाब के कालेज इस सूची में दूसरे नंबर पर हैं। राजधानी दिल्ली का स्थान चौथा है।

103 शिकायतें मिलीं

विश्वविद्यालय ने यौन शोषण के पहले सर्वे में एक अप्रैल 2016 से 31 मार्च 2017 के बीच आई शिकायतों को आधार बनाया। इस दौरान आयोग के पास 103 छात्राओं ने छेड़छाड़ या यौन शोषण की शिकायत दर्ज कराई।

बीएचयू से शिकायत नहीं

इन शिकायतों में 24 यूपी के कॉलेजों से थीं, हालांकि इनमें से बीएसयू से एक भी शिकायत नहीं थी। सबसे अधिक शिकायतें अलीगढ़ यूनिवर्सिटी, अंबेडकर यूनिवर्सिटी और शारदा यूनिवर्सिटी से प्राप्त हुईं।

पंजाब दूसरे स्थान पर

छात्राओं से छेड़छाड़ के मामले में पंजाब के विश्वविद्यालय दूसरे स्थान पर हैं। एक साल के दौरान पंजाब के कालेजों से 16 छेड़छाड़ और यौन शोषण की शिकायतें आयोग को प्राप्त हुईं।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...