सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान तेज बहादुर यादव ने भोजन की गुणवत्ता की शिकायत संबंधी जो वीडियो बनाया था, उसे अब आईएसआई ने अपना हथियार बना लिया है। जी हां, पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इस वीडियो के माध्यम से दुष्प्रचार कर रही है।

देश के दुश्मन कर रहे इस्तेमाल

तेज बहादुर ने सोशल मीडिया पर यह वीडियो अपलोड करते समय सोचा भी नहीं होगा कि इसका इस्तेमाल देश के दुश्मन करेंगे। बीएसएफ के प्रमुख केके शर्मा के मुताबिक इस वीडियो का इस्तेमाल आईएसआई कर रही है।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


राजनाथ ने सारे प्रोटोकॉल तोड़ जवान को लगाया गले, जानें क्यों…

जवानों को हतोत्साहित कर रहे

शर्मा का कहना है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इस वीडियो से जवानों को हतोत्साहित करने के लिए हथियार के रूप में प्रयोग कर रही है। आईएसआई ने 22 जगहों से तेजबहादुर का वीडियो प्राप्त किया और इसे वायरल कर दिया।

भारतीय सेनाओं के नए सर्वोच्च कमांडर से मिलकर जवानों के दिल हुए बाग-बाग

सोशल मीडिया पर ट्रेंड कराया

आईएसआई ने इस वीडियो को सोशल मीडिया पर ट्रेंड कराया। यह सब सिर्फ बीएसएफ और अन्य सुरक्षा बलों के जवानों को हतोत्साहित करने के लिए किया गया। यह पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी की सोची-समझी साजिश है। हालांकि, इससे जवानों पर कोई असर पड़ने वाला नहीं है।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...