ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक कॉलेज में अब नस्लभेद के खिलाफ छात्र-छात्राओं के लिए जागरूक किया जाएगा। इसके लिए खासतौर से पढ़ाई होगी। आगामी सत्र से सभी नए विद्यार्थियों के लिए नस्लवाद के खिलाफ जागरूकता फैलाने वाली शिक्षा को जरूरी कर दिया गया है।

स्नातक के सभी छात्रों के लिए अनिवार्य

मैग्डॉलेन कॉलेज, ऑक्सफोर्ड में आगामी सत्र से स्नातक की डिग्री लेने वाले सभी छात्रों के लिए ‘नस्लीय जागरूकता’ विषय को अनिवार्य बनाया गया है। इसका मकसद छात्रों को जातीय अल्पसंख्यकों के प्रति ज्यादा संवेदनशील बनाना है।

फैंसी ड्रेस पार्टी का भी होगा आयोजन

इस कोर्स के तहत छात्रों को जातीय और गैरजातीय अल्पसंख्यकों की मान्यताओं से जुड़ी पोशाकें दी जाएंगी। इसके लिए फैंसी ड्रेस पार्टी जैसे आयोजन होंगे। इसमें भाग लेने वाले छात्र अपने देश और उसके बाहर पाई जाने वाली अल्पसंख्यक जातियों-नस्लों से रूबरू होंगी।


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


14 साल की उम्र में यूनिवर्सिटी में गणित का प्रोफेसर बन गया यह किशोर

ऐसी आई की एक कॉलेज में शिकायत

बताते चलें कि इसी साल फरवरी में पेम्ब्रोक कॉलेज कैम्ब्रिज में आई एक शिकायत में सांस्कृतिक रूप से गलत व्यवहार करने का आरोप लगाया गया था। शिकायत में कहा गया था कि कॉलेज की कैंटीन में किसी अनजान देश या जगह के खाद्य पदार्थ को परोसा गया है।

लो कर लो बातः वर्ल्ड टॉप 250 यूनिवर्सिटी में भारत की एक भी नहीं

कई विषयों की होगी पढ़ाई

मैग्डॉलेन कॉलेज नस्लीय जागरूकता के तहत कई टॉपिक पढ़ाए जाएंगे। इसमें डिफिनिशन ऑफ रेसिज्म, इंस्टीट्यूशनल रेसिज्म एट ऑक्सफोर्ड जैसे विषय शामिल होंगे। इसमें यह भी बताया जाएगा कि किस तरह जातीय और गैरजातीय अल्पसंख्यकों के खिलाफ फैल रहे नस्लीय भेदभाव से निपटा जाए।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...