एक हिंदुस्तानी के लिए गोली खाने वाले अंग्रेज को टाइम मैग्जीन ने सम्मान दिया है। अमरीकी नागरिक इआन ग्रिलोट ने इसी साल की शुरुआत में नस्ली भेदभाव के चलते कंसास में हुई गोलीबारी के दौरान खुद गोली खाकर भारतीय की जान बचाई थी।

पांच अमरीकी हीरो में दिया स्थान

इसके बाद टाइम मैग्जीन ने इआन ग्रिलोट का नाम “पांच अमरीकी हीरो जिन्होंने 2017 में उम्मीद बंधाई” की सूची में शामिल किया है। इसी साल फरवरी में कंसास में नेवी के पूर्व कर्मी ने एक बार में भारतीयों को निशाना बनाने की कोशिश की थी। तभी 24 साल के ग्रिलोट बीचबचाव में आगे आए तो उन्हें गोली लग गई थी।

महिला की चेतावनी सुन लेते तो अमरीका में न जाती इतने लोगों की जान!


हमसे फेसबुक पर भी जुड़ें!


टाइम ने छापा ग्रिलोट का लेख

हालांकि इस गोलीबारी में 32 साल के श्रीनिवास कुछिभोतला की मौत हो गई थी, जबकि उनके सहकर्मी अालोक मादासानी गंभीर रूप से घायल हो गए थे। टाइम की ओर से प्रकाशित एक लेख में ग्रिलोट ने कहा, अगर मैं वैसा नहीं करता तो मैं खुद के साथ नहीं रह पाता।

भारतीय समुदाय ने किया सम्मान

इसके पहले इआन ग्रिलोट को भारतीय अमरीकी समुदाय ने हॉस्टन में सच्चे अमरीकी हीरो के रूप में नवाजा था और उनके लिए अपने गृहनगर कंसास में घर खरीदने के लिए एक लाख डॉलर की राशि भी जुटाई थी।

रेस्टोरेंट में टीवी देख रखे थे इआन ग्रिलोट

बताते चलें कि घटना वाले दिन ग्रिलोट एक रेस्टोरेंट में टीवी पर बॉस्केटबॉल गेम देख रहे थे, जब एक बंदूकधारी श्रीनिवास और आलोक के पास पहुंचा और बोला, मेरे देश से निकल जाओ। बीच में आने पर उसने ग्रिलोट के सीरे पर गोली मार दी थी।

जे पसंद आया?
तो हम भी पसंद आएंगे, ठोको लाइक

Follow on Twitter!
loading...